Yaadein – Hindi Poetry

Yaadein – Hindi Poetry

Yaadein is a Hindi Poetry on life and memories of ones close to us. Watch this video and other videos on my youtube channel – Nikhil Kapoor

Transcription of the video:-

गई रात
शाम बहुत देर तक
चाँद के पन्ने पलटती रही
“वजह-बेवजह” जाने क्यूँ तुम बहुत
“याद आते रहे”
बिखर गयीं है
तुम्हारी कुछ बातें
दहलीज़ पर नम होकर
सूख जाएँगी खुद बा खुद बेखयालि की धूप में ये
“मत बुहारना इन्हे, यादों को बड़ी तक़लीफ़ होती है”

Hindi Poetry by Nikhil Kapoor
Blog: Lamhe Zindagi Ke

Social Media Links
Facebook
Instagram
Youtube Channel

Leave a Reply