उम्र के निशान ,red rose on the streets. Lamhe Zindagi Ke, Hindi Poetry on Life
Long Poems

उम्र के निशान

Poem: उम्र के निशान ” इंद्रधनुषी रंगों से भरे , बुलबुले से सपने , रात की नाभि पर ,नींद भर लट्टूओं सा नाचते रहे ।सुबह की उंगली क्या लगी ,फूट कर अंधेरों …

"मौत""जिंदगी" cremation of dead body
Short Poems

“मौत”-” जिंदगी”

आदतन “मौत” एक कहानी लिखने बैठी,बिखरने लगे जब पन्ने सारे,हसरत की जिल्द में बाँध उनको,“बेखयाली” में नाम की जगह ” जिंदगी” लिख बैठी | Hindi Poetry by Nikhil KapoorBlog: Lamhe …